खास खबरें देर रात उज्जैन से गुजरे कालवी, करणी सेना ने किया स्वागत मध्‍यप्रदेश में आज सियासत के लिए तूफानी प्रचार, पीएम मोदी, अमित शाह, राहुल गांधी की अलग-अलग शहरों में होगी रैलियां मानव तस्‍करी की पीड़ा झेल चुके पीडि़तों को एपल देगा नौकरी महिला वर्ल्ड टी-20 : भारत ने आयरलैंड को हरा सेमीफाइनल में बनाई जगह कमलनाथ ने लिखी विकास के नाम चिट्ठी, पूछा 'तुम कहां हो ?' बिग बी अमिताभ बच्‍चन ने दी पोती आराध्‍या को जन्‍मदिन की बधाईयॉं सेंसेक्स 100 अंक मजबूत, निफ्टी 10640 के पास 'रात-दिन मोदी-मोदी, कांग्रेस और राहुल को हुआ मोदी फोबिया' - अमित शाह राजस्‍थान : कांग्रेस की पहली सूची से नाराज कांग्रेसियों ने राहुल गांधी के घर के बाहर जमाया ढेरा, पैसे लेकर टिकट बांटने का आरोप गोपाष्‍टमी : गाय की पूजा से प्रसन्‍न होते है सभी देवता, मिलती है सुख-समृद्धि

माथे पर पड़ती लकीरों से पता चलेगा, कितना खतरे में है आपका दिल..

माथे पर पड़ती लकीरों से पता चलेगा, कितना खतरे में है आपका दिल..

Post By : Dastak Admin on 28-Aug-2018 15:23:52

deep forehead tells heart health

 

अगर किसी इंसान के माथे पर उनके उम्र के अनुपात में समय से पहले गहरी झुर्रियां हैं, तो उन्हें दिल की बीमारी होने का खतरा है. हाल में हुए एक अध्ययन में यह तथ्य सामने आया है. फ्रांस के हॉस्पिटैलियर यूनिवर्सिटायर डे टॉउलाउज के एसोसिएट प्रोफेसर योलांडे एस्क्यूरॉल ने कहा कि हमने इस शोध में झुर्रियां को इस तरह के जोखिम होने का सिम्बल बनाया, क्योंकि इस पर किसी की भी आसानी से नजर चली जाती है. महज किसी भी इंसान के चेहरे को देखकर इस जोखिम का अंदाजा लगाया जा सकता है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि जीवनशैली में सुधार और इलाज होने पर इस जोखिम को कम किया जा सकता है.

उन्होंने इससे बचने के सलाह के रूप में कहा कि इंसान को अपनी जीवनशैली और स्वस्थ भोजन पर विशेष ध्यान देना चाहिए. अधिक जोखिम वाले इंसान में पहले ही इसकी पहचान कर लेने से इससे बचा जा सकता है. एस्क्यूरॉल कहते हैं कि निश्चित रूप से अगर आपमें इस तरह का जोखिम है तो आप ब्लड प्रेशर और ब्लड ग्लूकोज की जांच कराएं. लेकिन आपको जीवनशैली से जुड़े कुछ बातों पर भी गौर करना होगा.

चार आयुवर्ग के लोग शामिल हुए
वैसे तो बढ़ती उम्र के साथ हार्ट संबंधी बीमारी का खतरा बढ़ जाता है लेकिन संतुलित लाइफस्टाइल और डॉक्टरी सलाह से इस खतरे को कम किया जा सकता है. सबसे बड़ी चुनौती होती है कि समय से पहले इसकी पहचान कैसे हो. यह अध्ययन 3200 कामकाजी लोगों पर किया गया. इसमें 32, 42, 52 और 62 साल की उम्र के लोगों को शामिल किया गया था, जिसमें डॉक्टरों ने इनके माथे पर झुर्रियों का परीक्षण किया. परीक्षण में शून्य स्कोर का मतलब था कि झुर्रियां नहीं हैं और 3 स्कोर का मतलब था कि काफी गहरी झुर्रियां हैं. 

20 साल तक चला अध्ययन
अध्ययन के प्रतिभागियों पर 20 सालों तक निगरानी रखी गई. इस दौरान इनमें से 233 प्रतिभागियों की मौत हो गई. इनमें से 15.2 प्रतिशत लोगों के माथे की झुर्रियों के स्कोर 2 या 3 थे. करीब 6.6 प्रतिशत लोगों के झुर्रियों का स्कोर 1 था और 2.1 प्रतिशत लोगों में झुर्रियां नहीं पाई गईं. अध्ययन में पाया गया कि जिन लोगों का स्कोर 1 था, उनमें शून्य स्कोर वाले लोगों की तुलना में दिल की बीमारी होने का खतरा था.

हर पैमाने को किया शामिल
जिनके स्कोर 2 और 3 थे उनमें दिल की बीमारी होने का खतरा 10 गुणा ज्यादा था. इतने लंबे समय तक हुए इस अध्ययन में शामिल किए गए लोगों की उम्र, लिंग, शिक्षा, धूम्रपान की स्थिति, ब्लड प्रेशर, दिल की धड़कन की गति, डाइबिटीज और वसा के स्तर को शामिल किया गया था. प्रोफेसर कहते हैं कि झुर्रियों का स्कोर अगर अधिक है तो दिल की बीमारी से आपकी मौत का जोखिम अधिक है.

Tags: deep forehead tells heart health

Post your comment
Name
Email
Comment
 

स्वास्थ्य

विविध