खास खबरें ग्रुप डिस्कशन और सेमिनार से बता रहे भोजन में सब्जियां लें, जंकफूड न खाए 2025 तक इंसानों से ज्यादा काम करेंगी मशीनें : वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम माता-पिता की इस लत के खिलाफ बच्‍चों ने सड़कों पर किया विरोध प्रदर्शन क्रिकेट टीम कप्तान विराट कोहली और वेटलिफ्टर मीराबाई चानू को राजीव गांधी खेल रत्न देने की सिफारिश अजय माकन ने दिया दिल्‍ली कांग्रेस के अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा कैंसर के मुश्किल जंग जीतने के बाद 46 की उम्र में लीजा बनी जुड़वा बेटियों की मॉं सेंसेक्स 37650 के करीब, निफ्टी 11400 के ऊपर कर्तव्यों का निर्वहन सिखाते हैं विश्वविद्यालय : राज्यपाल श्रीमती पटेल रेवाड़ी गैंगरेप : मुख्‍य आरोपी निशु पहले भी कर चुका है ऐसी वारदात चौथे दिन उत्तम शौच धर्म की पूजा के साथ, अपनी वाणी को अपने मन को अपने कर्मों को उत्तम बनाना ही शौच धर्म है

शराबखोरी के अलावा इन कारणों से भी बढ़ जाता है लीवर खराब होने का खतरा

शराबखोरी के अलावा इन कारणों से भी बढ़ जाता है लीवर खराब होने का खतरा

Post By : Dastak Admin on 02-Sep-2018 09:03:38

bad habits cause damage liver


इंदौर। पिछले दस सालों से लिवर संबंधित मरीजों की संख्या बढ़ रही है। 25 प्रतिशत मरीज लिवर की बीमारियों से किसी न किसी तरह जूझ रहे हैं। शराब के अलावा भी 300 से अधिक ऐसे कारण सामने आ रहे हैं जिनसे लिवर खराब होने की अधिक आशंका होती है। इसमें स्पाइसी खाना व असंतुलित आहार फैटी लिवर बना रहे हैं।

कई दवाइयों के नियमित सेवन से भी लिवर पर असर हो रहा है। हेपेटाइटिस बी और सी के कारण भी लिवर खराब हो रहा है। चर्बी जमा होने से लिवर खराब होने के साथ हार्ट अटैक व लकवा होने का अंदेशा भी बना रहता है। इसलिए लिवर को सुरक्षित रखने के लिए टीके लगवाने व खाने में शकर तथा तेल का प्रयोग कम करने के साथ ही नियमित व्यायाम करना जरूरी है।

इंडियन सोसायटी ऑफ गैस्ट्रोएंटरोलॉजी एमपी-सीजी ने दो दिनी नेशनल कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया है। इसमें मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ से 300 से अधिक गैस्ट्रोएंटरोलॉजिस्ट इसमें शामिल हुए। डॉ. शुक्ला ने बताया कि लिवर इन्फेक्शन के कारण हेपेटाइटिस ई के मरीज भी अब सामने आ रहे हैं। यह गंदे पानी व खराब खाना से हो रहा है। ऐसी समस्या लेकर आने वाले मरीजों में से एक प्रतिशत लोगों का लिवर फेल हो सकता है। इससे बचना सबसे जरूरी है। इसलिए पानी को उबालकर पीएं, बाहर भोजन करने जाएं तो ताजा भोजन ही करें। हमेशा ध्यान रखें कि कच्चा व खुला हुआ खाना ना खाएं।

हर साल हो रहे 1700 ट्रांसप्लांट 
कॉन्फ्रेंस में एशिया में सबसे अधिक लिवर ट्रांसप्लांट करने वाले डॉ. अरविंद सिंह सोइन भी पहुंचे। उन्होंने बताया कि अन्य देशों में हर साल छह से सात हजार लिवर ट्रांंसप्लांट होते हैं। जबकि भारत में हर साल 1600 से 1700 ट्रांंसप्लांट होते हैं। इनमें से भी करीब 1100 लाइव डोनर ट्रांसप्लांट व बाकी केडेबर लिवर ट्रांसप्लांट होते हैं। उन्होंने बताया लिस्ट के अनुसार पिछले साल 4500 लोगों को तत्काल लिवर की आवश्यकता थी लेकिन कुछ सौ लोगोें को ही यह मिल पाया। इनमें से 30 प्रतिशत लोगों की ट्रांसप्लांट नहीं होने से मौत हो गई। इसका सबसे बड़ा कारण डोनर नहीं मिलना व अधिक खर्च दोनों ही माना जा सकता है। अब सरकार भी देश के कुछ सरकारी अस्पतालों में यह सुविधा उपलब्ध करवा रही है। ब्रेन डेथ व्यक्ति के परिवार की अनुमति के बाद यह प्रक्रिया पूरी होती है।

एसिडिटी से भी लिवर खराब होने की रहती है आशंका
डॉ. एसके सिन्हा ने बताया कि लगभग 25 प्रतिशत लोग एसिडिटी के कारण परेशान रहते हैं। एसिडिटी की समस्या असंतुलित खान-पान व व्यायाम नहीं करने से होती है। मरीजों में नए-नए लक्षण सामने आ रहे हैं। कुछ एसिडिटी दवाइयों से कंट्रोल हो जाती है लेकिन कुछ में कंट्रोल नहीं होती। ऐसे मरीजों में लिवर खराब होने की आशंका बढ़ जाती है। कई बार यह इन्फेक्शन के कारण भी होती है। स्मोकिंग बंद करने, शराब का सेवन कम करने, शुगर लेवल कम व सोने के एक से डेढ़ घंटे पहले खाना खाने से एसिडिटी से बचा जा सकता है।

Tags: bad habits cause damage liver

Post your comment
Name
Email
Comment
 

स्वास्थ्य

विविध