खास खबरें पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति आवेदन की अंतिम तिथि 31 मार्च पीएम मोदी आज वाराणसी में करेंगे 15वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्‍मेलन का उद्घाटन पाकिस्‍तान : तेल टैंकर और बस में भीषण टक्‍कर में हुई 26 लोगों की मौत, 16 घायल कल नेपियर में खेला जाएगा भारत-न्यूजीलैंड के बीच पहला वनडे मैच 2019 में फिर सत्‍ता में आएंगी भाजपा : राजनाथ सिंह मणिकर्णिका विवाद : करणी सेना ने दी फिर कंगना को धमकी- 'महाराष्‍ट्र में चलना-फिरना दूभर कर देंगे' सेंसेक्स 140 अंक टूटा, निफ्टी 10915 के आसपास मध्‍यप्रदेश में फंड की कमी से नहीं मिला लाखों कर्मचारियों को महंगाई भत्‍ता 13 यहूदियों ने हरियाणा आकर अपनाया हिन्‍दू धर्म, अब करेंगे हिन्‍दू धर्म-संस्‍कृति का प्रचार शुरू हुआ पवित्र माघ का महीना, इस तरह करें अपनी मनोकामना पूरी

नागदा में सिंधिया को काले-झंडे दिखाने की भनक लगी तो बदल लिया काफिले का रास्ता, कारणी सेना ने की बातचीत

नागदा में सिंधिया को काले-झंडे दिखाने की भनक लगी तो बदल लिया काफिले का रास्ता, कारणी सेना ने की बातचीत

Post By : Dastak Admin on 12-Sep-2018 09:48:40

ujjain

Ujjain @ मप्र कांग्रेस के चुनाव प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया दिल्ली से नागदा पहुंचे। यहां सर्किट हाउस में वे कार्यकर्ताओं से चर्चा कर रहे थे, तभी करणी सेना के सदस्य पहुंचे और एससी-एसटी एक्ट को लेकर अचानक सवालों की बौछार कर दी। उनके जवाब और चर्चा के बाद जब सिंधिया कालूखेड़ा के लिए निकले तो रास्ते में उन्हें काले झंडे दिखाने की तैयारी हो गई। करणी सेना के कार्यकर्ता रास्ते में खड़े रहे। हालांकि सिंधिया समर्थकों को जानकारी लग गई और काफिले का रास्ता बदल दिया गया। नागदा से कालूखेड़ा के लिए रवाना होने के बाद घिनौदा फंटे पर करणी सेना कार्यकर्ताओं ने सिंधिया को काले झंडे दिखाए। हालांकि इसकी भनक कांग्रेस नेता दिलीपसिंह गुर्जर को पहले से लग चुकी थी, तो तत्काल रास्ता बदलकर सिंधिया का काफिला निकाला गया। इससे करणी सेना के कार्यकर्ता काफी दूर रह गए। सिंधिया जब सभा को संबोधित कर रहे थे, तो बड़ी संख्या में मौजूद कार्यकर्ता झंडे लहराते हुए उनका स्वागत कर रहे थे। स्वागत के बाद सिंधिया ने कार्यकर्ताओं को कांग्रेस की सरकार बनाने का आह्वान किया।

Tags: ujjain

Post your comment
Name
Email
Comment
 

खास खबर

विविध