खास खबरें पंचक्रोशी यात्रा एवं अन्य पर्वों पर हो आचार संहिता का पूरा पालन कांग्रेस की शिकायत पर चुनाव आयोग ने दी पीएम मोदी को क्‍लीन चिट श्रीलंका में हुए सीरियल ब्‍लॉस्‍ट के पीछे न्‍यूजीलैंड में हुए हमले का बदला बनी वजह एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप : गोमती ने जीता भारत के लिए पहला गोल्‍ड, शिवपाल ने जीता सिल्‍वर पंजाब की गुरदासपुर सीट से बीजेपी ने दिया सनी देओल को टिकट, चंडीगढ़ से किरण खेर प्रत्‍याशी अक्षय कुमार ने लिया पीएम मोदी का इंटरव्‍यू, मॉं के बारे में मोदी जी ने बताई ये खास बात... सेंसेक्स 38800 के पार, निफ्टी 11640 के आसपास युवक-युवती के संबंधों से नाराज थे ग्रामीण, खेत में करंट लगाकर ले ली प्रेमी की जान रोहित शेखर की हत्‍या के मामले में पुलिस को पत्‍नी पर शक, नौकर और ड्राईवर भी संदिग्‍ध संकष्‍टी चतुर्थी पर ऐसे करें भगवान श्रीगणेश की पूजा

श्रीलंका में हुए सीरियल ब्‍लॉस्‍ट के पीछे न्‍यूजीलैंड में हुए हमले का बदला बनी वजह

श्रीलंका में हुए सीरियल ब्‍लॉस्‍ट के पीछे न्‍यूजीलैंड में हुए हमले का बदला बनी वजह

Post By : Dastak Admin on 23-Apr-2019 22:56:02

shrilanka serial blast, newziland christ church attack

 
कोलंबो। रविवार को श्रीलंका में जब लोग ईस्टर संडे की तैयारी में जुटे थे, तब एक के बाद एक हुए आठ बम धमाकों ने देश ही नहीं पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया। इस हमले में 310 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 450 से अधिक लोग घायल हैं। इस मामले की शुरुआती जांच में सामने आया है कि यह आतंकी कार्रवाई न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों में हुए हमले का प्रतिशोध था।

देश के उप रक्षा मंत्री ने जांच के हवाले से यह जानकारी दी है। धमाकों के सिलसिले में श्रीलंका ने अब तक 40 संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया है। स्टेट मिनिस्टर ऑफ डिफेंस रुवान विजेवारडेने ने संसद को बताया कि शुरुआती जांच से पता चला है कि श्रीलंका में रविवार को जो हुआ, वह न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों पर किए गए हमले का प्रतिशोध था।

इन आतंकी हमलों से पहले ही भारत ने श्रीलंका को 4 अप्रैल को खुफिया जानकारी दी थी, लेकिन इसके बाद भी वहां आतंकी हमलों की घटना को टाला नहीं जा सका। इस बीच भारतीय अधिकारियों ने श्रीलंका को बताया है कि नेशनल तौहीद जमात के आतंकियों की दूसरी टीम बम हमले करने के लिए तैयार है। मामले की जानकारी रखने वाले लोगों ने बताया कि भारत ने हमलों की जांच में मदद करने के लिए श्रीलंका को "तकनीकी और खुफिया" सपोर्ट कर रहा है।

बताते चलें कि 15 मार्च को ऑस्ट्रेलिया मूल के ब्रेंटन टैरेंट ने न्यूजीलैंड के क्राइस्ट चर्च की दो मस्जिदों में सेमीऑटोमैटिक बंदूक से गोलियां बरसाकर 50 लोगों की हत्या कर दी थी। इस हमले में करीब 48 लोग घायल हुए थे। हमला से पहले आतंकी ने हेलमेट में कैमरा पहना और 17 मिनट तक घटना की लाइव स्ट्रीमिंग की। हालांकि, बाद में सोशल मीडिया प्लेटफार्म से उसकी फुटेज हटा दी गई थी, लेकिन तब तक पूरी दुनिया ने दहशत का मंजर देख लिया था।

न्यूजीलैंड के हमलावर ने अपने हथियारों में मुसलमानों और शरणार्थियों की हत्या के दोषी लोगों के नाम लिखे थे। वह यूरोप में हुई आतंकी घटनाओं से गुस्से में था, खासतौर पर 11 साल की एक बच्ची की मौत ने उसे हिलाकर रख दिया था। उसने इस हमले की योजना तीन महीने पहले बनाई थी।

Tags: shrilanka serial blast, newziland christ church attack

Post your comment
Name
Email
Comment
 

अंतरराष्ट्रीय

विविध