खास खबरें आतंकवाद को समाप्त केवल भारत के नागरिक ही कर सकते हैं यौन उत्‍पीड़न मामले में सीजेआई की जांच के लिए बना आंतरिक पैनल श्रीलंका में हुआ एक और बम धमाका, टू व्‍हीलर में रखा था बम क्रिकेट फैन्‍स के लिए भगवान है सचिन तेंदुलकर, 24 तारीख से है खास रिश्‍ता मप्र की जनसभा में राहुल गांधी ने साधा मोदी-शाह पर जमकर निशाना, राफेल मुद्दे पर की घेरने की कोशिश पीएम मोदी भी पढ़ते है टिव्ंकल खन्‍ना के ट्वीट, अक्षय कुमार से पूछा ये सवाल... सेंसेक्स 75 अंक ऊपर, निफ्टी 11600 के आसपास तेंदुए की खाल के साथ शिकारी गिरफ्तार पत्‍नी अपूर्वा ने कबूला रोहित शेखर की हत्‍या का जुर्म, दोनों के बीच हुई थी हाथापाई असुरों के भक्‍तों की रक्षा के लिए श्री गणेश ने लिए थे आठ अवतार

इंदौर में बनी स्‍पेशल 26 की टीम, आयकर विभाग के अधिकारी बन मार रहे थे छापे

इंदौर में बनी स्‍पेशल 26 की टीम, आयकर विभाग के अधिकारी बन मार रहे थे छापे

Post By : Dastak Admin on 24-Apr-2019 10:52:31

indore, special 26, fake income tax raid team

 

इंदौर । क्राइम ब्रांच ने ऐसे गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है जो आयकर अफसर बनकर वर्षों से ठगी कर रहे थे। गिरोह के सरगना ने समानांतर आयकर विभाग खोल लिया था। वह स्वयं को चीफ इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर बताता था और सीनियर फील्ड ऑफिसर, फील्ड ऑफिसर, सीनियर जांच अधिकारी, जांच अधिकारियों की नियुक्ति कर युवाओं से 40 लाख रुपए भी ऐंठ चुका था। गाड़ी पर भारत सरकार की प्लेट और गनमैन साथ रखता था। हिंदी फिल्म 'स्पेशल-26’ की तर्ज पर कई जगह छापे मारकर रुपए वसूल लिए थे। ठग ने 30 कारोबारी, प्रॉपर्टी ब्रोकर, किसान, दुकानदारों के घर दबिश के लिए सर्वे तक करवा लिया था। आरोपित के दफ्तर से सर्वे की फाइलें, रजिस्टर, कार, नेमप्लेट, नियुक्ति पत्र, आईडी कार्ड मिले हैं। एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र के मुताबिक सरगना देवेंद्र (29) माधवलाल डाबर निवासी बजरंग नगर है।

आयकर विभाग की विज्ञप्ति पढ़ आया फर्जीवाड़े का विचार
एसपी अवधेश गोस्वामी के मुताबिक देवेंद्र मूलत: कुक्षी (धार) का रहने वाला है। वह 12वीं तक पढ़ा है। उसने बीए के लिए फॉर्म भरा लेकिन परीक्षा नहीं दी। उसके पिता कुक्षी तहसील कार्यालय में बाबू हैं। उसने बताया कि आयकर विभाग द्वारा जारी विज्ञाप्ति में पढ़ा था जिसमें लिखा था कि बेनामी और आय से अधिक संपत्ति की जानकारी देने पर 10 प्रतिशत कमीशन दिया जाएगा। इश्तेहार देख फर्जीवाड़े का विचार आया और सीबीडीटी अटैचमेंट सेक्शन-6 खोलकर ऑफिसर बन गया। उसने कबूला कि बुरहानपुर में कारोबारी गोदासिंह के घर छापा मारा था। उसके बारे में गोपनीय सर्वे करवाया था। वह ब्याज पर रुपए देता है। उसे धमकाकर पांच हजार रुपए लिए और लौट आए। देवेंद्र हाईवे, बायपास और टोल नाकों के समीप गाड़ी खड़ी कर उन कंटेनरों की जांच करता था जो राज्य के बाहर से माल लेकर आते थे।

सिलीकॉन सिटी में कार्यालय
सरगना देवेंद्र ने फर्जी चीफ इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर बनकर सिलीकॉन सिटी के फ्लैट में आयकर कार्यालय खोल लिया। यहां इंटेलिजेंस एंड क्रिमिनल इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट (सीबीडीटी) का बोर्ड लगा लिया।

Tags: indore, special 26, fake income tax raid team

Post your comment
Name
Email
Comment
 

इंदौर

विविध