खास खबरें आतंकवाद को समाप्त केवल भारत के नागरिक ही कर सकते हैं यौन उत्‍पीड़न मामले में सीजेआई की जांच के लिए बना आंतरिक पैनल श्रीलंका में हुआ एक और बम धमाका, टू व्‍हीलर में रखा था बम क्रिकेट फैन्‍स के लिए भगवान है सचिन तेंदुलकर, 24 तारीख से है खास रिश्‍ता मप्र की जनसभा में राहुल गांधी ने साधा मोदी-शाह पर जमकर निशाना, राफेल मुद्दे पर की घेरने की कोशिश पीएम मोदी भी पढ़ते है टिव्ंकल खन्‍ना के ट्वीट, अक्षय कुमार से पूछा ये सवाल... सेंसेक्स 75 अंक ऊपर, निफ्टी 11600 के आसपास तेंदुए की खाल के साथ शिकारी गिरफ्तार पत्‍नी अपूर्वा ने कबूला रोहित शेखर की हत्‍या का जुर्म, दोनों के बीच हुई थी हाथापाई असुरों के भक्‍तों की रक्षा के लिए श्री गणेश ने लिए थे आठ अवतार

शासकीय/अशासकीय कार्यालयों में महिलाओं के लिए बुनियादी सुविधा हेतु दिशा निर्देश

शासकीय/अशासकीय कार्यालयों में महिलाओं के लिए बुनियादी सुविधा हेतु दिशा निर्देश

Post By : Dastak Admin on 23-Apr-2019 20:43:07

शासकीय/अशासकीय कार्यालयों में महिलाओं के लिए बुनियादी स

विदिशा | कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जिले में संचालित सभी शासकीय, अशासकीय संस्थाओं में कार्यरत महिला कर्मचारियों के लिए बुनियादी सुविधाएं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के संबंध में दिशा निर्देशयुक्त पत्र सभी कार्यालय प्रमुखों को महिला एवं बाल विकास विभाग के माध्यम से जारी किया गया है। 
    कलेक्टर श्री सिंह के द्वारा महिलाओं हेतु बुनियादी व्यवस्थाओं की निगरानी एवं निरीक्षण के लिए जिला स्तर पर डिप्टी कलेक्टर श्रीमती आरती यादव की अध्यक्षता में एक समिति गठित की है। गठित समिति नियमित रूप से कार्यालयों का निरीक्षण कर महिलाओं के लिए मुहैया कराई जानी वाली बुनियादी सुविधाओं की पूर्ति जारी गाइड लाइन के अनुरूप हो रही है कि नही का जायजा लेकर निरीक्षण प्रतिवेदन कलेक्टर को उपलब्ध कराएंगे। 
    प्रत्येक कार्यालय में कार्यरत महिला कर्मचारियों के लिए जो बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने हेतु पत्र प्रेषित किए गए है उनमें शौचालय की व्यवस्था पृथक से, संतान पालन अवकाश बिना किसी उचित कारण के रोका ना जाएं तथा महिलाओं के लिए कक्ष, कार्नर, रेस्टरूम निर्धारित किए जाएं ताकि महिलाओं की प्रायवेसी हेतु आवश्यक सुविधाएं जैसे इमरजेसी किट आदि उपलब्ध हो। गर्भवती महिला कर्मचारी या उसका छोटा बच्चा हो तो शिशुओं के लिए कार्यालय में सुविधाजनक अनुसार सुरक्षित वातावरण प्रदान किया जाएं। 
    ऐसे कार्यालय जहां दस से अधिक महिला कर्मचारी कार्यरत है वहां आंतरिक शिकायत समिति (आईसीसी) का गठन किया गया है यदि समिति गठित नही है तो तत्काल कार्य स्थल पर लैगिंग उत्पीड़न अधिनियम 2013 के अंतर्गत समिति का गठन किया जाए। प्रत्येक कार्यालय में आईसीसी के प्रावधानो के तहत सदस्य, अध्यक्ष का नाम तथा महिला हेल्पलाइन नम्बर बोर्ड पर चस्पा किए जाएं। प्रत्येक कार्यालय में सुझाव, शिकायत पेटी अनिवार्य रूप से हो। प्रत्येक कार्यालय में महिला कर्मचारी को दी जाने वाली सुविधाओं को प्रदर्शित किया जाए। सुरक्षित कार्यस्थल के संबंध में कार्यालय प्रमुखों एवं कार्यरत महिलाओं की त्रैमासिक कार्यशाला, गोष्ठी का आयोजन कर सुझावों को अमल किया जाए इत्यादि शामिल है।

Tags: शासकीय/अशासकीय कार्यालयों में महिलाओं के लिए बुनियादी स

Post your comment
Name
Email
Comment
 

विदिशा

विविध