खास खबरें पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति आवेदन की अंतिम तिथि 31 मार्च पीएम मोदी आज वाराणसी में करेंगे 15वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्‍मेलन का उद्घाटन पाकिस्‍तान : तेल टैंकर और बस में भीषण टक्‍कर में हुई 26 लोगों की मौत, 16 घायल कल नेपियर में खेला जाएगा भारत-न्यूजीलैंड के बीच पहला वनडे मैच 2019 में फिर सत्‍ता में आएंगी भाजपा : राजनाथ सिंह मणिकर्णिका विवाद : करणी सेना ने दी फिर कंगना को धमकी- 'महाराष्‍ट्र में चलना-फिरना दूभर कर देंगे' सेंसेक्स 140 अंक टूटा, निफ्टी 10915 के आसपास मध्‍यप्रदेश में फंड की कमी से नहीं मिला लाखों कर्मचारियों को महंगाई भत्‍ता दिल्ली-NCR में बिन मौसम बारिश के साथ पड़े ओले, पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी शुरू हुआ पवित्र माघ का महीना, इस तरह करें अपनी मनोकामना पूरी

सफेद, हरे व गुलाबी रंग के हैं जय किसान ऋण मुक्ति योजना के आवेदन

सफेद, हरे व गुलाबी रंग के हैं जय किसान ऋण मुक्ति योजना के आवेदन

Post By : Dastak Admin on 16-Jan-2019 22:32:54

 जय किसान ऋण मुक्ति योजना

 

हरदा | कलेक्टर श्री एस विश्वनाथन जय किसान ऋण मुक्ति योजना के फार्म जमा करवाने की प्रक्रिया देखने ग्राम कोलीपुरा,रिझगांव और मांगरूल पहुंचे। किसानों को योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी और समक्ष में फार्म भरवाकर किसानों को वितरित किए। उप संचालक कृषि श्री एमपीएस चंद्रावत ने बताया कि जय किसान ऋण मुक्ति योजना के तहत प्रशासनिक स्तर पर कार्रवाई जारी है। आधार सीडिंग का कार्य सभी बैंक प्रबंधक एवं एसडीएम को करना होगा साथ ही यह कार्य शत-प्रतिशत करने के निर्देश कलेक्टर द्वारा दिए गए हैं। किसानों की फसल ऋण से मुक्ति के 2 लाख रूपए तक का ऋण माफ किया जा रहा है। योजना के तहत किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक एवं सहकारी बैंक से लिया गया फसल ऋण माफ किया जाएगा। 31 मार्च 2018 की स्थिति में किसान के नियमित ऋण खाते में ऋण प्रदाता द्वारा दिए गए ऋण की बकाया राशि के रूप में दर्ज है, जिन किसानों ने 31 मार्च 2018 की स्थिति में रेग्यूलर ऑउट स्टेंडिंग लोन था तथा 12 दिसंबर 2018 तक पूर्णत: अथवा आंशिक रूप से चुका दिया है, उन्हें योजना का लाभ दिया जाएगा। बताया जा रहा है कि इसके लिए किसानों के लोन लेने वाले बैंक खाते की आधार सीडिंग होना जरूरी है। ऋण माफी योजना में इस बार हरा रंग का आवेदन पत्र ऐसे किसानों द्वारा भरा जाएगा, जिनका बैंक अकाउन्ट आधार कार्ड से सीडेड है। सफेद रंग का आवेदन पत्र गैर-आधार कार्ड सीडेड वाले, जबकि गुलाबी रंग का आवेदन पत्र ऐसे किसानों द्वारा भरा जाएगा, जिनका नाम ग्राम पंचायत में चस्पा सूची में नहीं है या फिर सूची में प्रदर्शित जानकारी त्रुतिपूर्ण है।
26 जनवरी को ग्राम सभाओं में होगा सूची का वाचन
   आधार सीडिंग का कार्य प्रतिदिन अभिप्रमाणन कराने के साथ ही रिकार्ड में दर्ज करने को कहा गया है। 15 जनवरी से किसानों से ऋण माफी के लिए आवेदन लिए जा रहे हैं। श्री चंद्रावत ने कहा कि पंचायत स्तर पर एक नोडल अधिकारी की नियुक्ति, आवेदन प्राप्त जांच, पावती, रसीद एवं रजिस्टर में इन्द्राज करने के लिए की गई है। उन्होने बताया कि 26 जनवरी को पंचायत स्तर पर विशेष ग्राम सभाओं का आयोजन किया जाएगा जिसमें आवेदक किसानो की सूची का वाचन किया होगा।
बैंक व ग्राम पंचायतों के पटल पर चस्पा होगी सूची
   आधार कार्ड आधारित सीडेड ऋण खातों की सूची हरे रंग के आवेदन व गैर आधार वाली सूची सफेद रंग की होगी। 27 जनवरी से 5 फरवरी तक हरी एवं सफेद आवेदनों की सूची के जिन कृषकों ने आवेदन नहीं दिया है उन कृषकों से पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायक द्वारा आवेदन लेकर आधार सीडिंग का कार्य किया होगा। सभी संबंधित अधिकारियों को ऋण माफी योजना का कार्य गंभीरता एवं संवेदनशीलता के साथ करने को कहा गया है। दोनों तरह की सूचियां प्रत्येक ग्राम पंचायत में तथा संबंधित बैंक शाखा में पटल पर प्रदर्शित की जा रही हैं।

Tags: जय किसान ऋण मुक्ति योजना

Post your comment
Name
Email
Comment
 

हरदा

विविध