खास खबरें ग्रुप डिस्कशन और सेमिनार से बता रहे भोजन में सब्जियां लें, जंकफूड न खाए 2025 तक इंसानों से ज्यादा काम करेंगी मशीनें : वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम माता-पिता की इस लत के खिलाफ बच्‍चों ने सड़कों पर किया विरोध प्रदर्शन क्रिकेट टीम कप्तान विराट कोहली और वेटलिफ्टर मीराबाई चानू को राजीव गांधी खेल रत्न देने की सिफारिश अजय माकन ने दिया दिल्‍ली कांग्रेस के अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा कैंसर के मुश्किल जंग जीतने के बाद 46 की उम्र में लीजा बनी जुड़वा बेटियों की मॉं सेंसेक्स 37650 के करीब, निफ्टी 11400 के ऊपर कर्तव्यों का निर्वहन सिखाते हैं विश्वविद्यालय : राज्यपाल श्रीमती पटेल रेवाड़ी गैंगरेप : मुख्‍य आरोपी निशु पहले भी कर चुका है ऐसी वारदात चौथे दिन उत्तम शौच धर्म की पूजा के साथ, अपनी वाणी को अपने मन को अपने कर्मों को उत्तम बनाना ही शौच धर्म है

सेक्टर आफिसर निर्वाचन संबंधी दायित्वों का निर्वहन गंभीरता से करेंगे-कलेक्टर

सेक्टर आफिसर निर्वाचन संबंधी दायित्वों का निर्वहन गंभीरता से करेंगे-कलेक्टर

Post By : Dastak Admin on 15-Sep-2018 17:54:11

nirvachan meeting


निर्वाचन कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी-कलेक्टर, अब मतदाता देख सकेंगे स्वयं का मतदान 
पन्ना | कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी की अध्यक्षता में जिला पंचायत सभाकक्ष में सेक्टर आफिसरों की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में बताया गया कि इस बार होने वाले विधानसभा निर्वाचन में मतदान के लिए एम-3 मशीनों का उपयोग किया जाएगा। यह मशीनें पुरानी मशीनों की अपेक्षा अधिक परिस्कृत हैं। इन मशीनों में किसी तरह की गडबडी की शंका नही रहेगी। मतदान करने वाला मतदाता इन मशीनों के साथ लगे वीवीपैट पर किए गए मतदान की जानकारी भी देख सकेगा। कलेक्टर द्वारा सभी सेक्टर आफिसर को निर्देश दिए गए हैं कि वे अपने-अपने मतदान केन्द्रों का निरीक्षण कर चुके हैं। मतदान केन्द्रों में जो भी कमी है उसकी पूर्ति के लिए प्रतिवेदन प्रस्तुत कर देंवे। इसके अलावा उन्हें रूटचार्ट उपलब्ध कराए जा रहे हैं उन रूटचार्टो के अनुसार मतदान केन्द्रों तक पहुंचकर आने-जाने की सुविधा का अवलोकन कर प्रतिवेदन दें कि निर्धारित रूटचार्ट पर कौन सा वाहन कहा तक जा सकेगा। कलेक्टर श्री खत्री ने कहा कि निर्वाचन संबंधी दायित्व निर्वहन में कोई भी लापरवाही करेगा उसके विरूद्ध कठोर दण्डात्मक कार्यवाही की जाएगी। 
   बैठक के दौरान नियुक्त सेक्टर आफिसरों को मतदान के लिए उपयोग की जाने वाली एम-3 मशीन के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी। बताया गया कि मशीनों में तीन पार्टो में है। इनमें कन्ट्रोल यूनिट, वेलेट यूनिट एवं वीवीपैट यूनिट है। इन्हें आपस में मतदान के लिए तैयार करते समय सभी के स्विच ऑफ रखेंगे, सभी यूनिट जुडने के बाद इन्हें चालू करके सक्रिय करेंगे। मतदान के लिए तैयार होते ही वीवीपैट में 7 पर्चियां निकलेंगी। इनके बाद माकपोल कराया जाएगा। इन मशीन में 50 पर्चियां माकपोल के दौरान निकलेंगी। इसके उपरांत मतदान प्रारंभ कराया जाएगा। माकपोल के दौरान ही विभिन्न पार्टियों के एक-एक पोलिंग एजेण्ट उपस्थित रहेंगे। पूरे मतदान के दौरान एक समय में एक ही अभ्यर्थी का एक पोलिंग एजेण्ट मतदान केन्द्र पर रह सकेगा। एक के बाहर निकलने के बाद दूसरा पोलिंग एजेण्ट मतदान केन्द्र पर प्रवेश कर सकेंगे। 
    बैठक में बताया गया कि प्रत्येक मतदान दल मतदान होने से पहले यह सुनिश्चित कर लेगा कि मतदान केन्द्र की 100 मीटर की परिधि पर कोई भी प्रचार सामग्री न लगी हों और मतदाता के अलावा उस परिधि में निर्वाचन आयोग की अनुमति पत्र के बगैर कोई व्यक्ति प्रवेश नही कर सकेगा। बैठक में बताया गया कि सभी सेक्टर आफिसर अपने मतदान दलों को मतदान सामग्री उपलब्ध कराते समय पूरी सावधानी के साथ मतदान सामग्री की जांच और मिलान करने के उपरांत मतदान दलों को रवाना कराएंगे। मतदान दलों को मतदान केन्द्र में उतारते समय इस बात का ध्यान रखा जाए कि जिस मतदान केन्द्र एवं मतदान दल के लिए जो सामग्री निर्धारित की गयी है वही उस मतदान दल के साथ मतदान केन्द्र पर पहुंचे। मतदान कराने के लिए मशीनों को सक्रिय मोड पर किया जाए। मतदान के उपरांत मशीन को ट्रांसपोर्ट मोड पर करने के उपरांत बंद कर दल अपने साथ वापस लेकर स्ट्रांग रूम में निर्धारित विंडो में निर्धारित सामग्री जमा कराएंगे। इस दौरान सेक्टर आफिसर पूरी सावधानी के साथ सामग्री सम्पूर्ण रूप से जमा होने के उपरांत ही मतदान दल को छोडेंगे। 
    बैठक में सेक्टर अधिकारीवार उनके क्षेत्र के मतदान केन्द्रों का निरीक्षण उपरांत तैयार किए गए प्रतिवेदन पर चर्चा की गयी। चर्चा के दौरान विद्युत मण्डल, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, शिक्षा अधिकारी, लोक निर्माण विभाग, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत की उपस्थिति में चर्चा की गयी। चर्चा के दौरान मतदान केन्द्र में मतदान की पूरी सुविधा, प्रकाश व्यवस्था, पेयजल व्यवस्था, छायावान, बैठक व्यवस्था, शौचालय (महिला/पुरूष), भवन की स्थिति, रेम्प, मतदान केन्द्र तक पहुंचने का मार्ग सबकी जानकारी विस्तार से लेने के साथ संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि वे मतदान केन्द्रों की कमियों को 4 दिवस के अन्दर पूर्ण कराएं। यदि कोई मतदान केन्द्र बहुत खराब स्थिति में है और उसके बगल में ही नया उपयुक्त शासकीय भवन है उसकी भी जानकारी प्राप्त कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए। उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री बी.बी. पाण्डेय ने उपस्थित सेक्टर आफिसरों से प्रतिवेदन प्राप्त करने के साथ-साथ मतदान मशीनों के संबंध में पूछे गए प्रश्नों के उत्तर विस्तारपूर्वक दिए। बैठक में सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे। 

Tags: nirvachan meeting

Post your comment
Name
Email
Comment
 

पन्ना

विविध