खास खबरें देर रात उज्जैन से गुजरे कालवी, करणी सेना ने किया स्वागत मध्‍यप्रदेश में आज सियासत के लिए तूफानी प्रचार, पीएम मोदी, अमित शाह, राहुल गांधी की अलग-अलग शहरों में होगी रैलियां मानव तस्‍करी की पीड़ा झेल चुके पीडि़तों को एपल देगा नौकरी महिला वर्ल्ड टी-20 : भारत ने आयरलैंड को हरा सेमीफाइनल में बनाई जगह कमलनाथ ने लिखी विकास के नाम चिट्ठी, पूछा 'तुम कहां हो ?' बिग बी अमिताभ बच्‍चन ने दी पोती आराध्‍या को जन्‍मदिन की बधाईयॉं सेंसेक्स 100 अंक मजबूत, निफ्टी 10640 के पास 'रात-दिन मोदी-मोदी, कांग्रेस और राहुल को हुआ मोदी फोबिया' - अमित शाह राजस्‍थान : कांग्रेस की पहली सूची से नाराज कांग्रेसियों ने राहुल गांधी के घर के बाहर जमाया ढेरा, पैसे लेकर टिकट बांटने का आरोप गोपाष्‍टमी : गाय की पूजा से प्रसन्‍न होते है सभी देवता, मिलती है सुख-समृद्धि

स्टेंडिंग कमेटी की बैठक में राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों एवं उम्मीदवारों को दी गई

स्टेंडिंग कमेटी की बैठक में राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों एवं उम्मीदवारों को दी गई

Post By : Dastak Admin on 15-Nov-2018 21:44:31

standing committee meeting


निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों की जानकारी, निर्वाचन नियमों का पालन करने के निर्देश 
जबलपुर | निर्वाचन आयोग के प्रेक्षकों की मौजूदगी में जिले के आठों विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों एवं मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों की कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आज गुरुवार की शाम बैठक आयोजित की गई। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई इस बैठक में उम्मीदवारों एवं राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों को निर्वाचन व्यय लेखे के संधारण की प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई तथा उनसे चुनाव प्रचार अभियान के दौरान आदर्श आचार संहिता एवं निर्वाचन नियमों के पालन की अपेक्षा की गई। इस अवसर पर उम्मीदवारों को निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के बारे में भी विस्तार से बताया गया। 
   बैठक में पाटन विधानसभा क्षेत्र के सामान्य प्रेक्षक श्री डी.जी. पटैल, बरगी विधानसभा के श्री देवेश्वर मलकार, जबलपुर पूर्व के के.एम. सिंह, जबलपुर उत्तर के माधवचन्द्र बरीहा, जबलपुर केण्ट की जयश्री एस.भोज, जबलपुर पश्चिम की माधवी कटारिया, पनागर की जूरी पुखान एवं सिहोरा विधानसभा क्षेत्र की सामान्य प्रेक्षक सुश्री गीता भारती, पुलिस प्रेक्षक सुष्मित विश्वास, पुलिस अधीक्षक अमित सिंह तथा निर्वाचन व्यय प्रेक्षक अनूप कुमार गौतम, एन.डी. गुप्ता, आनंद कुमार और अनूप कुमार गुप्ता मौजूद थे।  
   बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती भारद्वाज ने बताया कि चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों को निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशानुसार दिन प्रतिदिन के चुनावी खर्चे का ब्यौरा निर्वाचन व्यय लेखे में संधारित करना होगा तथा इसे 18 नवम्बर, 22 नवम्बर एवं 26 नवम्बर को निरीक्षण के लिए एक्सपेंडीचर मॉनीटरिंग सेल को उपलब्ध कराना होगा। श्रीमती भारद्वाज ने बताया कि उम्मीदवार अपने निर्वाचन व्ययों का भुगतान निर्वाचन के उद्देश्य से खोले गए खाते से रेखांकित चेक या ड्रॉफ्ट अथवा आरटीजीएस या एमईएफटी से ही कर सकेगा।
   कलेक्टर ने बैठक में बताया कि निर्वाचन आयोग के नए निर्देर्शों के मुताबिक उम्मीदवारों द्वारा किसी व्यक्ति अथवा ईकाई को व्यय के किसी मद के लिए अदा की जाने वाली रकम यदि दस हजार से अधिक नहीं है तो ऐसे व्यय का भुगतान नगद किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि उम्मीदवारों द्वारा निर्वाचन व्यय लेखे के संधारण के लिए अलग से निर्वाचन व्यय अभिकर्ता भी नियुक्त किए जा सकते हैं। उम्मीदवारों को निर्वाचन व्यय लेखे की ई-फाइलिंग की सुविधा भी दी गई है। 
   श्रीमती भारद्वाज ने बताया कि उम्मीदवार द्वारा संधारित दिन-प्रतिदिन के निर्वाचन व्यय के लेखे का मिलान निर्वाचन कार्यालय द्वारा रखे जा रहे छाया रजिस्टर से किया जाएगा। यदि इसमें कोई विसंगति पाई जाएगी तो उम्मीदवारों को इसके बारे में सूचित किया जाएगा। सूचना का तय समय-सीमा में जवाब नहीं देने पर उम्मीदवार के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। 
   जिला निर्वाचन अधिकारी ने इस अवसर पर उम्मीदवारों और राजनैतिक दलों को आगाह किया कि बिना पूर्व अनुमति के जुलूस, आमसभा का आयोजन न करें। वाहनों एवं लाउड स्पीकर के उपयोग की भी उन्हें पूर्व अनुमति लेनी होगी। उन्होंने कहा कि प्रचार सामग्री में मुद्रक और प्रकाशक का नाम एवं मुद्रित सामग्री की संख्या अनिवार्य रूप से प्रिंटलाइन देना अनिवार्य होगा। बिना प्रिंटलाइन के प्रचार सामग्री पाए जाने पर लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 127 क के तहत दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। उन्होंने केबल टीव्ही, रेडियो, टीव्ही चैनल पर प्रसारित किए जाने वाले विज्ञापनों का पूर्व प्रमाणन कराने के निर्देश भी दिए। श्रीमती भारद्वाज ने कहा कि वल्क में भेजे जाने एसएमएस, वाईस मैसेज, ऑडियो-वीडियो, जिंगल्स आदि को भी जारी करने से पहले एमसीएमसी कमेटी से पूर्व प्रमाणन कराना अनिवार्य होगा।

Tags: standing committee meeting

Post your comment
Name
Email
Comment
 

जबलपुर

विविध