खास खबरें पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति आवेदन की अंतिम तिथि 31 मार्च पीएम मोदी आज वाराणसी में करेंगे 15वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्‍मेलन का उद्घाटन पाकिस्‍तान : तेल टैंकर और बस में भीषण टक्‍कर में हुई 26 लोगों की मौत, 16 घायल कल नेपियर में खेला जाएगा भारत-न्यूजीलैंड के बीच पहला वनडे मैच 2019 में फिर सत्‍ता में आएंगी भाजपा : राजनाथ सिंह मणिकर्णिका विवाद : करणी सेना ने दी फिर कंगना को धमकी- 'महाराष्‍ट्र में चलना-फिरना दूभर कर देंगे' सेंसेक्स 140 अंक टूटा, निफ्टी 10915 के आसपास मध्‍यप्रदेश में फंड की कमी से नहीं मिला लाखों कर्मचारियों को महंगाई भत्‍ता दिल्ली-NCR में बिन मौसम बारिश के साथ पड़े ओले, पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी शुरू हुआ पवित्र माघ का महीना, इस तरह करें अपनी मनोकामना पूरी

खबर जरा हटके

14 साल में एक बार ही खिलता है ये फूल

Post By : Dastak Admin on 08-Sep-2018 12:10:31


brahmakamal

 

आपने धरती पर अलग-अलग तरह के फूलों के बारे में सुना होगा। हाल ही में पिछले दिनों एक फूल के बारे में जिक्र किया था जो 12 साल में एक बार खिलता है। वहीं आज हम आपको एक और ऐसे फूल के बारे में बताने जा रहे है जो 14 साल खिलता है। 

जी हां, इस फूल का नाम ब्रह्मकमल है। ब्रह्मकमल नाम का ये फूल 3 हजार मीटर की ऊंचाई पर सिर्फ रात में खिलता है। सुबह होते ही ये फूल बंद हो जाता है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इसे देखने दुनियाभर से लोग वहां पहुंच रहे हैं।

हाल ही ब्रह्मकमल की तस्वीर भारत-तिब्बत सीमा पुलिस ने भी जारी की है। इसे उत्तराखंड का राज्य पुष्प भी कहते हैं। बताया गया है कि केदारनाथ में पुलिस ने ब्रह्मवाटिका बनाई है वहां भी ये फूल खिले हैं। खास बात है कि संभवत: इंसान की बनाई पहली वाटिका है जिसमें ब्रह्मकमल खिले हैं।

ब्रह्मकमल हिमालय के उत्तरी और दक्षिण-पश्चिम चीन में पाया जाता है। यह ब्रह्मकमल हिमालय के बेहद ठंडे इलाकों में ही मिलता है। 

बदरीनाथ, केदारनाथ के साथ ही फूलों की घाटी, हेमकुंड साहिब, वासुकीताल, वेदनी बुग्याल, मह्महेश्वर, रूप कुंड, तुंगनाथ में ये फूल मिलता है।

बनेगा ब्रह्मकमल का बीज बैंक...
एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वन अनुसंधान केंद्र ने राज्य पुष्प ब्रह्मकमल का बीज बैंक तैयार कर लिया है। इसके तहत चमोली जिले के रुद्रनाथ औैर मंडल वन प्रभाग में तीन-तीन हेक्टेयर में पौधशाला तैयार हो गई है। 

चीन में भी ब्रह्म कमल खिलता है जिसे ‘तानहुआयिझियान’ कहते हैं जिसका अर्थ है प्रभावशाली लेकिन कम समय तक ख्याति रखने वाला।

बता दें कि इसकी सुंदरता और औषधीय गुणों के कारण ही इसे संरक्षित प्रजाति में रखा गया है।

अपनी जानकारी दे

नाम
ई-मेल
मोबाइल
फोटो

आपके समाचार

शब्द प्रारूप और पाठ प्रारूप में समाचार फ़ाइल

Subscribe Newsletter




आपका वोट

अपना राशिफल देखें

मेष वृषभ मिथुन कर्क सिंह कन्या तुला वृश्चिक धनु मकर कुंभ मीन
मेष

व्‍यापार में गंभीरता व ईमानदारी से काम करेंगे। नौकरी में इच्‍छानुसार पद मिलने के योग हैं। दांपत्‍य जीवन सुखमय रहेगा। किसी से वाद विवाद हो सकता है। निवेश से नुकसान हो सकता है। यात्रा टालें।

महाकाल आरती समय

dastak news ujjain

  महाकाल आरती समय

आरती

चैत्र से आश्विन तक

कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा से फाल्गुन पूर्णिमा तक

भस्मार्ती

प्रात: 4 बजे श्रावण मास में प्रात: 3 बजे

प्रातः 4 से 6 बजे तक।

दध्योदन

प्रात: 7 से 7:45 तक

प्रात: 7:30 से 8:15 तक

महाभोग

प्रात: 10 से 10:45 तक

प्रात: 10:30 से 11:15 तक

सांध्य

संध्या 5 से 5:45 तक

संध्या 5 से 5:45 बजे तक

सांध्य

संध्या 7 से 7:45 तक

संध्या 6:30 से 7:15 तक

शयन

रात्रि 10:30 बजे

रात्रि 10:30 से 11 बजे तक

आज का विचार

    पीड़ा पाप का परिणाम है | - महात्मा गौतम बुद्ध

Games