खास खबरें जनसुनवाई में आये 120 आवेदन ऑनर किलिंग : गर्भवती पत्नि के सामने पति की निर्मम हत्‍या, आरोपियों ने दी थी एक करोड़ की सुपारी ईलाज के बहाने पत्नि को भेजा भारत, फिर वाट्सएप पर दे दिया तलाक एशिया कप में आज भारत-पाक का होगा आमना-सामना नीतीश-मोदी के खिलाफ राहुल-तेजस्‍वी करेंगे 'MY+BB' फॉर्मूले पर काम मैडम तुसाद में नजर आएंगी सनी लियोन निफ्टी 11300 के ऊपर, सेंसेक्स 100 अंक मजबूत पत्रकारों के लिये स्वास्थ्य एवं दुर्घटना समूह बीमा की राशि बढ़कर 4 लाख हुई दिल्‍ली : 7 साल की मासूम के साथ हुई हैवानियत, आरोपी ने प्राइवेट पार्ट में डाला प्‍लास्टिक का पाइप क्‍यों मनाई जाती है तेजा दशमी, कौन थे तेजाजी महाराज ?

स्कूल बसों पर कार्रवाई और यात्री बसों को विशेष छूट

Post By : Dastak Admin on 12-Feb-2018 10:24:44

नकेह

भारत के संविधान के हिसाब से कानून सभी के लिए बराबर है, लेकिन यदि अपने फायदें के लिए पद का गलत तरह से उपयोग किया जाए तो वह गलत है। ऐसा ही मामला उज्जैन में देखने को मिल रहा है। इंदौर के दिल्ली पब्लिक स्कूल की बस हादसे के बाद प्रदेश भर में स्कूली बसों के खिलाफ जमकर कार्रवाई की। उज्जैन में आरटीओ द्वारा लगातार स्कूल बसों पर कार्रवाई की जा रही है। बच्चों की सुरक्षा की दृष्टि से यह सही भी है, लेकिन यात्री बसों की हालत जस की तस है। आरटीओ यात्री बसों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रह है। जबकि यात्री बसें रोज दुर्घटनाग्रस्त हो रही है। हमने जब इस बारे में जानने की कोशिश तो पता चला कि स्कूल बसों से आरटीओ को कोई लाभ नही है। जबकि यात्री बसों से कई तरह से लाभ है। इस के साथ ही मध्यप्रदेश सरकार द्वारा आए दिन भोपाल में कोई न कोई सम्मेलन आयोजित किया जाता है। जिसमें भीड एकत्रित करने की जिम्मेदारी भी आरटीओ की होती है। मजबूरन आरटीओ बसों को अधिगृहित कर बसों को सम्मेलन में भेजते है। ऐसे में इसे उल्लू बनाना नहीं कहेंगे तो क्या कहेंगे।

अपनी जानकारी दे

नाम
ई-मेल
मोबाइल
फोटो

आपके समाचार

शब्द प्रारूप और पाठ प्रारूप में समाचार फ़ाइल

Subscribe Newsletter




आपका वोट

किसानों ने बैंको से ऋण ले रखा था किंतु अब वे उसे चुका नही पा रहे हैं। क्या किसानों के बैंक ऋण सरकार को माफ करना चाहिए ?
हां
88%
ujjain poll
नहीं
10%
पता नहीं
1%
सर्वेक्षण

अपना राशिफल देखें

मेष वृषभ मिथुन कर्क सिंह कन्या तुला वृश्चिक धनु मकर कुंभ मीन
मेष

फि‍जूलखर्च और व्‍यर्थ के दिखावे से दूर रहेंगे। अनावश्‍यक चिंताएं व तनाव कम होंगे। धार्मिक आयोजनों में व्‍यस्‍तता रहेगी। मित्र आगे बढ़ने में सहयोग करेंगे। दांपत्‍य जीवन प्रेमपूर्वक व्‍यतीत होगा। यात्रा टालें।

महाकाल आरती समय

dastak news ujjain

  महाकाल आरती समय

आरती

चैत्र से आश्विन तक

कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा से फाल्गुन पूर्णिमा तक

भस्मार्ती

प्रात: 4 बजे श्रावण मास में प्रात: 3 बजे

प्रातः 4 से 6 बजे तक।

दध्योदन

प्रात: 7 से 7:45 तक

प्रात: 7:30 से 8:15 तक

महाभोग

प्रात: 10 से 10:45 तक

प्रात: 10:30 से 11:15 तक

सांध्य

संध्या 5 से 5:45 तक

संध्या 5 से 5:45 बजे तक

सांध्य

संध्या 7 से 7:45 तक

संध्या 6:30 से 7:15 तक

शयन

रात्रि 10:30 बजे

रात्रि 10:30 से 11 बजे तक

आज का विचार

    मनुष्य को हमेशा मौका नही ढूंढना चाहिये, क्योंकि जो आज है वही सबसे अच्छा मौका है। - अज्ञात

Games